बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671


Yogi Adityanath
NAME:

Yogi Adityanath

DATE OF BIRTH:05 June 1972
TIME OF BIRTH:12:00 AM
PLACE OF BIRTH:Garhwal, India
Yogi Adityanath kundali


उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री  “योगी आदित्य नाथ” का जन्म 05 जून 1972 में पौड़ी गढ़वाल में महंत अवैद्यनाथ के यहा “गुरु” की महा दशा में हुआ था इनके बचपन का नाम “अजय सिंह” था इनके पिता अवैद्यनाथ जी गुरु गोरख नाथ मंदिर के महंत थे।

14 फरवरी 1981-13 फरवरी 2000 - तक इनके जीवन में शनि की महादशा रही l इस दशा के अंतर्गत इन्होने अपनी स्नातक की पढ़ाई एचएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय से विज्ञान से की । इन्होंने शादी नहीं की और मंदिर के महंत के रूप में कार्य किया l 1990 के दशक में अयोध्या राम मंदिर आंदोलन में शामिल होने के लिए अपना घर छोड़ दिया। उस समय के आसपास, वह गोरखनाथ मठ के मुख्य पुजारी महंत अवैद्यनाथ के प्रभाव में भी आए और उनके शिष्य बन गए। इसके बाद, उन्हें 'योगी आदित्यनाथ' नाम दिया गया और महंत अवैद्यनाथ के उत्तराधिकारी के रूप में नामित किया गया। अपनी दीक्षा के बाद गोरखपुर में रहते हुए, आदित्यनाथ ने अक्सर अपने पैतृक गांव का दौरा किया | 1994 में योगी आदित्यनाथ को गोरखनाथ मठ के महंत के रूप में अवैद्यनाथ का उत्तराधिकारी नियुक्त किया गया। चार साल बाद, उन्हें भारतीय संसद (लोकसभा) के निचले सदन के लिए चुना गया।

सन 1998 में वहाँ एक स्कूल की स्थापना अपनी पहली चुनावी जीत के बाद की, आदित्यनाथ ने अपनी युवा शाखा हिंदू युवा वाहिनी शुरू की, जो पूर्वी उत्तर प्रदेश में अपनी गतिविधियों के लिए जानी जाती है, लेकिन आदित्यनाथ की उल्कापिंड वृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। चुनाव टिकटों के आवंटन को लेकर आदित्यनाथ और भाजपा नेतृत्व के बीच बार-बार तनाव रहा है। हालाँकि, भाजपा ने तनावों को बढ़ने नहीं दिया क्योंकि आदित्यनाथ ने पार्टी के लिए स्टार प्रचारक के रूप में काम किया है

14 फरवरी  2000-13 फरवरी  2017 - के अंतर्गत बुध की दशा इनके जीवन में रही इस दशा के अंतर्गत इनके जीवन में कई बदलाव आए इनकी जन्म कुंडली में बुध ग्रह की दशा ने कई बार इन्हे अपनी ही बनाई योजनाओ के कारण इन्हे विवादो में घेरे रखा जैसे वर्ष 2002 अप्रैल में इन्होने युवाओ के साथ मिलकर “हिन्दू युवा वाहिनी “नामक संघठन का निर्माण किया और विवादो में उलझे रहे । इस दशा के अंतर्गत 2005 में इन पर कई तरह के आरोप भी लगे। 2006 में, उन्होंने नेपाली माओवादियों और भारतीय वामपंथी दलों के बीच महत्वपूर्ण अभियान के मुद्दे के रूप में संबंध बनाए और मधेसी नेताओं को नेपाल में माओवाद का विरोध करने के लिए प्रोत्साहित किया। 2008 में, आतंकवाद विरोधी रैली के लिए उनके काफिले पर आजमगढ़ के लिए हमला किया गया था। हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई और कम से कम छह लोग घायल हो गए इसके पश्चात इस संगठन पर पुलिस ने मऊ में हुए दंगे का आरोप लगाया ”हिन्दू युवा वाहिनी” पर 2007 में दंगे का आरोप लगाया 12 सितंबर 2014 को उनके शिक्षक महंत अवैद्यनाथ की मृत्यु के बाद उन्हें गोरखनाथ मठ के महंत या महायाजक के पद पर पदोन्नत किया गया था। योगी आदित्यनाथ को नाथ संप्रदाय के पारंपरिक अनुष्ठानों के बीच मठ के प्रमुख अनुष्ठानों के लिए पीठाधीश्वर बनाया गया ।

14 फरवरी  2017-13 फरवरी 2024 – केतु की महादशा और केतु की ही अंतर्दशा के दौरान वह उत्तर प्रदेश राज्य में 2017 के विधानसभा चुनावों में भाजपा के लिए एक प्रमुख प्रचारक थे। उन्हें शनिवार 18 मार्च 2017 को राज्य का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था, और अगले दिन 19 मार्च को भाजपा के विधानसभा चुनाव जीतने के बाद शपथ ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी ने एंटी रोमियो स्क्वॉड के गठन का आदेश दिया। उन्होंने गौ-तस्करी पर प्रतिबंध लगा दिया और अगले आदेश तक UPPSC के परिणाम, परीक्षा और साक्षात्कार पर रोक लगाई। उन्होंने राज्य भर के सरकारी कार्यालयों में तंबाकू, पान और गुटखा पर प्रतिबंध लगा दिया और अधिकारियों को स्वच्छ भारत मिशन के लिए हर साल 100 घंटे समर्पित करने का संकल्प लिया। उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा 100 से अधिक पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था। यूपी के सीएम बनने के बाद, उन्होंने लगभग 36 मंत्रालयों को अपने पास रखा, जिनमें गृह, आवास, नगर और देश नियोजन विभाग, राजस्व, खाद्य और नागरिक आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन, अर्थशास्त्र और सांख्यिकी, खान और खनिज, बाढ़ नियंत्रण, स्टाम्प शामिल हैं

आगे आने वाली दशा शुक्र की है जिसमे इनको राजनीति में काफी अच्छी  प्रसिद्धि हासिल होगी और थोड़े बहुत उतार – चड़ाव के लिए ये कुछ उपाय कर ले तो बेहद अच्छा नेम फ़ेम मिलेगा ।



 
Free Future Prediction
 
Free Prediction Yes I Can Change


Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Copyright © 2005 - 2017. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े