बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671


Sushma Swaraj
NAME:

Sushma Swaraj

DATE OF BIRTH:14 February 1952
TIME OF BIRTH:04:15 AM
PLACE OF BIRTH:Ambala, Haryana
Sushma Swaraj kundali


सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी सन् 1952 में हुआ था। वह भारत की विदेश मंत्री राजनीतिज्ञ महिला है। उनका जन्म सूर्य की महादशा में हुआ था जिसने उनके जीवन में सेहत की खराबी व पिता की धन सम्पति , स्वस्थ की खराबी पेश की। परंतु उनकी जन्म कुंडली में शुक्र लग्न में बैठा होने से उनको बोलने में व लोगो के अंदर प्ररेणा पहुचने का काम भी करेगा। इस शुक्र लग्न के योग ने उनको राजनीति में कामयाबी हासिल करवाई और दुनिया में अपना नाम रोशन करवाया इतना ही नहीं केतु के नैव घर में बैठ उन्हें अच्छी सोच का मालिक बनाते हुए उनका नाम प्रसिद्ध किया।  परन्तु चाँद की दशा जोकि सन् 1954 - 1964 तक उनके जीवन में रही तथा उनकी माँ के जीवन में अनेक परिवर्तन लेकर आई।

इस दशा में उनकी माँ की सेहत , जोड़ो का दर्द व आँखों के रोग उत्पन्न किये।  साथ ही साथ उनके अपने जीवन में पढाई लिखाई की समस्या तथा अपनी मेहनत के अनुसार सफलता प्राप्त न होने जैसी समस्यां भी उनके जीवन में उत्पन्न हुई और अपने कठिन परिश्रम व मंगल की गृह की सहायता है।  वे अपने जीवन का उदेश्य प्राप्त कर रही है और सन् 1971 तक उन्होंने अपने जीवन में सम्पूर्ण परिश्रम किया। 

सन् 1971 से 1989 तक उन्होंने अनेक उपलब्धियां हासिल की तथा सन् 1975 में बुध की  दशा में उनका विवाह सम्पन्न हुआ। इसी के चलते 1977 से 1979 तक शनि की अंतर्दशा में श्रम मंत्री का पद प्राप्त करके 24 साल की उम्र में कैबिनेट मंत्री बनने का रिकार्ड बनाया।  तथा 27 वर्ष की उम्र में जनता पार्टी हरियाणा राज्य का मुख्य मंत्री का पर प्राप्त हुआ। वर्ष २०१४ में वे विदिशा लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से दोबारा लोकसभा की सांसद निर्वाचित हुई हैं और उन्हंा भारत की पहली महिला विदेश मंत्री होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

भाजपा में राष्ट्रीय मन्त्री बनने वाली पहली महिला सुषमा के नाम पर कई रिकार्ड दर्ज़ हैं। वे भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता बनने वाली पहली महिला हैं, वे कैबिनेट मन्त्री बनने वाली भी भाजपा की पहली महिला हैं, वे दिल्ली की पहली महिला मुख्यमन्त्री थीं और भारत की संसद में सर्वश्रेष्ठ सांसद का पुरस्कार पाने वाली पहली महिला भी वे ही हैं। वे दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री और देश में किसी राजनीतिक दल की पहली महिला प्रवक्ता बनने की उपलब्धि भी उन्हीं के नाम दर्ज है। स्वराज दम्पत्ति की एक पुत्री है, बांसुरी, जो लंदन के इनर टेम्पल में वकालत कर रही हैं।

67 साल की आयु में 6 अगस्त, 2019 की रात करीबन 11.30 बजे सुषमा स्वराज जी का दिल्ली में निधन हो गया। 



 
Free Future Prediction
 
Free Prediction Yes I Can Change


Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Copyright © 2005 - 2017. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े