बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671


Kapil Dev
NAME:

Kapil Dev

DATE OF BIRTH:06 January 1959
TIME OF BIRTH:02:30 AM
PLACE OF BIRTH:Chandigarh, India
Kapil Dev kundali


जनवरी  1959 मे महान खिलाड़ी कपिल देव का जनम शनि की महादसा मे हुआ जो की 1973 तक चली ! महान खिलाड़ी कपिल देव  जी की जनम कुंडली मे मेष राशि  के मंगल ने उनको खेलकुद का शोक बचपन से ही दिया शनि देव इनकी कुंडली मे प्रकर्म भाव मे ह  बुध अदित्या योग के साथ वही शनिदेव कुंडली मे सूखेश और स्मृधी के मालिक बनकर बाथे ह ! इसी महादशा मे इनकी प्रारंभी शिक्षा पूरी हुई ! और इनको पत्रक संपाती प्रपट हुई ! 

1973 – 1990 बुध की दशा इनके लिए काफी अछि रही इसी दशा मे कपिल देव जी ने खेल जगत मे अपनी शुरुयातर की ! 1976 के जम्मू कश्मीर मे अच्छा प्रदशन किया ! 1978 – 1979 क्लेम सर्विस मे उछटम श्रेणी का प्रदर्शन किया ! बुध के समय मे ही इनको ग्रस्त जीवन का सुख प्रदान किया ! बुध के समय मे  1979 – 1980 मे प्रकर्म भाव मे स्थित होना साथ ही भाग्य 

इसी महादशा के अंतराल मे विश्वय प्रसिद्ध ख्याति प्राप्त की 1 नॉर्थ जोने और देओथर ट्रॉफी मे भी कपिल जी ने अच प्रदर्शन  बुध और शनि के मेल ने इनको देश मे एक अछि क्याती प्रदान की जिससे इनहोने दूसरे रजो मे अपनी जीत प्रपट की 1990 – 1997  कपिल देव जी उछ के केतू ने देश विदेश की यात्राओ का सुख प प्रपट हुआ !  इस ही महादश के अंतराल मे कपिल जी को संतान का सुख प्रपट हुआ ! सूर्य बुध के योग के कारण बेटी के सुख उनके लिए ज्यादा अचे ! कारक भाव मे केतू और उच राशि ने उस पर पढ़ रही सुभ गुरु की ड्रिसथी ने उनको एक विषव्य प्रसिद्धि डिलिए जोकि आज भी सरहना के काबिल ह ! 1994 मे विदेशी संस्थान के साथ काम करने का मौका मिला ! केतू के महादश के अंतराल मे कापलि  जी को कई नए नए वावसाया शुरू करने के योह बनाए !

1997 – 2017 कपिल जी की जनम कुंडली मे शूकरा का साम्य शुरू हुआ सुख समृद्धि के स्थान पर बाथे शूका ने उनको प्रापर्टी और एशों आराम के सुख प्रदान करने के किए ! धन भाव भाव मे बता गुरु एक गुरु जसा सभव उनको प्रदान करता ह इसी कारण एक गुरु की तरह काम करने की के योग बनाए ! अष्टमेश और लग्नेश की युति ने इनको काफी भ्यूक बनाया ! पारिवारिक सुख हल्का रहा ! सूर्य शनि के मेल ने इनको कई त्राह के आरोप का योग बनया और इसी समय इनके मान सम्मान मे कमी के हालत बने ! शुक्र का सूखेश होना के कारण फिर एक प्रेषिदी प्रपट हुई !  2005 मे शुक्र मे राहू के अंतर ने उनको अभिनए के क्षेत्र मे 



 
Free Future Prediction
 
Free Prediction Yes I Can Change


Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Copyright © 2005 - 2017. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े