बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671


Recent added

Sridevi

मशहूर अभिनेत्री श्रीमति श्री देवी का जन्म 13 अगस्त 1963 मे तमिलनाडु में सूर्य की महादशा मे हुआ जो की इनकी जनमकुंडली मे 1965 तक इनको प्रभावित करता रहा।  इनकी जनमकुंडली मे बने लगन के सूर्य और शुक्र की युति ने इनको रंग रूप दिया साथ ही आभिनय की कला  भी बचपन से ही  दी। 

1965 -1975  चन्द्र की महादशा  ने इनको अभिनय  का मौका दिया एक बाल कलाकार के रूप मे जिसमे की इनको सफलता भी मिली। इसी साम्य मे इन्होने  अपनी शिक्षा प्राप्त की। 1965 और 1977 मे अभिनय  के क्षेत्र मे काफी प्रसिद्ध हुई। 1975 मे इन्होने  और प्रसिद्धि  प्राप्त की।  बुध केतू के मेल ने इनको काफी भाषा का ज्ञान मिला। 

अभिनेत्री श्री देवी का जनमकुंडली मे मंगल की महादशा   1975 -1982 मे इनको तमिल तेलुगू मे काफी पुरस्कार मिले और इनके काम की खूब सराहना हुई।  

श्रीदेवी जी की जनमकुंडली मे जैसे ही राहू की महादशा का अगमन हुआ 1982 – 2000 इन्होने पीछे मुड़ कर नहीं देखा लेकिन जनमकुंडली में  बने सूर्य शुक्र के योग ने इनको प्रेम संबंध के मामले मे काफी चर्चित किया।  और कई बार उनको मान सम्मान की हानि  का सामना करना पड़ा। इसी समय के बीच इनकी शादी के योग भी बने।  1977 मे इनको फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया साथ ही 1982 मे इनको बेस्ट  अभिनेत्री  का पुरुस्कार मिला। 

श्रीदेवी की जनम कुंडली मे भाग्यस्था मे गुरु ने अपार सफलता ,पुरुस्कार  और प्रसिद्धि का सुख प्रदान किया।  जो की इनको 2000 – 2016 तक प्रभावित  करती रही।  गुरु की दशा ने ही इनको ग्रहस्ती का सुख प्रदान किया साथ ही साथ संतान का भी सुख प्रदान किया।  जनम कुंडली मे बाएं नीच राहू ने इनकी ग्रहस्ती पर समय समय पर चोट मारी जो की इनके मानसिक तनाव का कारण बना।  धनस्थान मे बाएं बुध और प्रकरम के भाव मे बाएं मंगल ने इनको धन धान्य की समृद्धि प्रदान की। 

2016 – 2035 मे जैसे ही शनि का समय आया श्रीदेवी जी जनमकुंडली मे शनि का लगन मे बाएं सूर्य और शुक्र के टकराव से साथ ही छठे घर के पीड़ित होने से और गोचर मे राहू पर चन्द्र पर दृष्टि इनकी मृत्यु का कारण बनी। 

Know More
Mukesh Ambani

मुकेश अंबानी का जन्म अप्रैल 1957 में केतू के महादशा में हुआ था l इस समय इनकी कुंडली में केतू 3 का दुशमन ग्रहों के साथ नीच का फल दे रहा है, लेकिन इस ग्रहयोग के कारण ही साथ में धन भाव के चंद्रमा की वजह से इनका जन्म मातृभूमि मे नहीं बल्कि अन्य मुल्क मे हुआ था l 

शुक्र (1958-1978) :- शुक्र की महादशा में इनकी प्रारम्भिक शिक्षा पूर्ण हुई l शुक्र का 6 वें भाव में बुध-आदित्य योग के साथ मौजूद होना ही इनको बढ़ती उम्र के साथ सुख-समृद्धि देगा, साथ ही 10 वें स्थान पर नीच के बृहस्पति ने इनके पिता काओ काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा l इसी महादशा मे इनके परिवार ने मुंबई मे निवास किया l 

सूर्य (1978-1984) :- इस महादशा को इनके लिए काफी योगकारक थी क्योंकि सूर्य काफी अच्छा राजयोग 3 ग्रहों के साथ मिलकर बना रहे है l इस समय के दौरान इनके पिता जी ने PFY वर्तमान सरकार में निर्मित किया l फिर 1984 में plants का एकीकरण करके प्लास्टर और फाइवर के प्लांट साथपित करें l गुजरात में अपने बिजनेस को संभाला और लगातार सफल रहे l 

चन्द्र (1984-1994) :- इस महादशा के दौरान काफी अच्छे कीर्तिमान स्थापित कीये  l चन्द्र का मित्र राशि मे होना और मित्र ग्रहों का राजयोग और नीचभंग राजयोग निर्मित एक अच्छा फल दे गया l साथ ही चंद्रमा पर राहू के प्रभाव इनको जमीन से निकलने वाली वस्तुओं के काम में भी तरक्की के हालात दिये l 

मंगल (18 अगस्त,1994- 17 अगस्त, 2001) :-   मंगल इनकी कुंडली में सातवें भाव मे एक राजयोग प्रदान कर रहें है l जिसकी वजह से इनको एक तरह से दुनिया भर में ब्रांड बना दिया l इस समय के दौरान इंहोने तेल और जमीन से निकालने वाले पदार्थों पर काम किया l ऊर्जा पर काम किया जो मंगल प्रदान करते है l साथ ही लग्न के मित्र गृह के कारण इनको मशीनरी और गैस,भाप,आयल और खादान के कार्यों से लाभ मिला l इसी दौरान इन्होने इन्फॉर्मेशन और कमुनिकेशन टेक्नोलाजी के सेटअप तैयार किए l 

राहू (2001-2019) :- यह महादशा इनके लिए वरदान साबित हुई l इस दौरान नये-नये मुकाम हासिल किए l अगर हम कहे की सं समय राहू ही इन्हें फर्श से अर्श पर ले जाकर चमकाने वाला ग्रह है, तो कुछ गलत नहीं होगा l विदेशी सम्बन्धों, नये व्यापारिक नीतियों और पेट्रोल और telecome के कार्यों से नाम कामया, और jio से एक क्रांति को जन्म दिया जिससे इनके टर्न को और बढ़ा दिया l 

• इस महादशा के दौरान ही कुछ विपरीत परिस्थितियों का भी सामना करना पड़ा l दिसंबर 2014 में राहू का बुध से संबंध होने की वजह से इनपर fir alleging Criminal दायर हुआ l 

• दिसंबर 2013, में progressive Punjab Summit in Mumbai the possibilities a “ Collaborative venture” 

• 2014 में इनको addressing “40th AGM” के लिए संबोधित किया गया l  

• फरवरी 2016 में “4G” स्मार्ट फोन ब्रांड नाम LYF को 2016 में इंडिया का तीसरे नंबर का समसे ज्यादा बिकने वाला फोन था यह उपलब्धि इनको राहू ने ही दिया था l 

• 2010,2013,2016 में इनको पुरस्कार और अवार्ड राहू की वजह से ही प्राप्त हुये l 2016 में heritage foundation ने oath gold chemical award दिया l  

Know More
Michael Jackson

माइकल जैक्सन एक अमेरिकी गायक, संगीतकार,गीतकार,रिकार्ड निर्माता,डांसर और बेहतरीन कलाकार है, जिन्हें किंग ऑफ पॉप के नाम से भी जाना जाता है। डांस और म्यूजिक में उनके अतुलनीय योगदान और उनकी विचित्र शैली ने उन्हें वैश्विक स्तर पर प्रसिद्धि दिलाई 4 दशक से भी अधिक समय तक वैश्विक स्तर पर वे प्रसिद्ध थे। माइकल जैक्सन का जन्म राहु की महादशा में 29 अगस्त 1958 में अमेरिका में हुआ। यह दशा इनको 1948 से 1966 तक प्रभावित करती रही। 

जैसे ही गुरू की महादशा का आगमन हुआ वह अपने भाईयों के ग्रुप में शामिल हो गये और जैक्सन परिवार में एक बेहतरीन सिंगर का आगमन हुआ । यह दशा इनको 16 साल तक प्रभावित करने वाली थी,और इसी बीच 11 साल की उम्र में गायकी आरंम्भ कर दी थी । गुरू के अच्छे प्रारंभिक और योगो के साथ-2 लग्न मे बैठे बुध ने गायकों के सहारे अपने आप को प्रसिद्धि दिलाने का काम किया। गुरू की यह दशा 1966 से 1982 तक चलने वाली थी और इसी बीच इन्होने 1971 में अपना खुद का काम शुरू कर लिया था।

जैक्सन ने गायकों की दुनिया में जल्द ही अपना सिक्का जमा लिया था और किंग ऑफ पॉप के नाम से दुनिया भर में प्रसिद्ध हो गये । कई तरह के हिट एल्बम दुनिया के आगे पेश किये लेकिन आखरी साल 1982 में जारी की गई एल्बम (थ्रेटर) उनका अब तक में सबसे अधिक बिकने वाला रहा l वह इनते लोकप्रिय बन चुके थे कि इनके गानों को टी.वी. पर चलने के लिए एक नये चैनल एम. टी. वी. पर उतारा। 

जहां उनके गाने प्रकाशित होते थे। सूर्य लग्न और शुक्र के 12 वें स्थान पर होने के कारण इनकी प्रसिद्धि दिलाई की इनकी झलक पाने के लिए लोग इन्हें घर के आगे घण्टों तक बाहर खड़े रहते थे। अपनी डांस और अनोखे नृत्य शैली प्रसिद्ध हो गई । गुरू की दशा ने इनको काफी हद तक उठाने का काम किया लेकिन शनि की महादशा जैसी ही आई 1982 से 2001 तक का यह समय थोड़ा अशुभ प्रभावों से भरा हुआ था। जिससे कई तरह की बदनामी जेल यात्रा और मान-सम्मान की हानि के योग बने हुऐ थे । इसी बीच शनि के अशुभ प्रभावों व मंगल, केतु  के मेल ने कई बार सर्जरी कराई लेकिन 2000 सन् में गिनीज बुक रिकार्ड ने उन्हें 39 सामाजिक संस्थानओं को मदद करने के उपलक्ष्य में सम्मानित किया। 

बुध की दशा जो कि इनके जीवन को 2001 से प्रभावित करती रही जिससे हैल्थ से परेशानियां और कई तरह के अशुभ प्रभाव माइकल जैक्सन को परेशानी में घेरे रखने का काम किया । 25 जून 2009 जब वह अपने आने वाले कार्यक्रम की तैयारी कर रहें थे तभी नुकीली और नशीली  दवाईयों के सेवन से ह्रदय विकार मे उनकी मृत्यु हो गई ।

Know More
Mamta Kulkarni

भारत की बेहतरीन अदाकार ममता कुलकर्णी का जन्म शनि की महादशा  में 20 अप्रैल 1972 में मुम्बई, महाराष्ट्र में हुआ। इन्हें पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ उन्हें डांसिंग और एक्टिंग में भी  रूचि थी। वह बचपन से ही अभिनेत्री बनना चहाती थी । शुक्र, मंगल, और शनि की युक्ति होने से एक खुबसूरत अदाकार और इसी पेशे में आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करते है और अपने काम से पीछे न हटने की सलाह देते है। अपनी मेहनत और लग्न को आगे बढ़ाते हुए ममता कुलकर्णी ने बुध की दषा के आगमन में 1992 में पहली फिल्म तिरंगा में काम करके अपनी बेहतरीन अदाकारी को दुनिया के सामने बड़े पर्दे पर पेश किया।

यह समय इनके जीवन में कुछ समय के लिए ही अच्छा रहा। यह समय इनके लिए 1991 से 2003 तक इनको सफलता के द्वार को खोलता चला गया लेकिन इसी दौरान इन्होने बहुत सारे बड़े-बड़े विवादों ओर बदनामी और बार-बार मान-सम्मान में हानि होने के साथ-साथ मानसिक परेशानियों का भी सामना किया। क्योकि लग्न  में बैठे चन्द्र ग्रहण ने इनकी मानसिक परेशानियों बढ़ावा दिया और 6 वें घर में गुरू ने उन्हें बदनामी का पात्र बनाया।

केतु के आगमन 2007 के दौरान फिल्म जगत को इन्होंने  हमेशा के अलविदा कह दिया और 2013 में अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स तस्कर विक्की गोस्वामी से शादी कर ली और शादी के तुरंत बाद ही कई तरह के विवादों में घिरती चली गई । जैसे ही शुक्र के आगमन का समय हुआ उस दौरान 2016 में कुलकर्णी नामक आरोपी जो कि 20,000 करोड़ अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट और गैगस्टर का नाम शामिल किया गया। एक विषेश नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रोपिक एक्ट कोर्ट ने कुलकर्णी और उनके पति गोस्वामी को अपराधियों के रूप में घोषित कर दिया। आगे आने वाले समय में कुलकर्णी को कार्यो में दिक्कतें साथ-साथ मानसिक परेशानियां और इसी तरह में विवादों में घेरे रहेगी। 

Know More
Mandira Bedi

मन्दिरा बेदी का जन्म षुक्र की दषा में 15 अप्रैल 1972 में कोलकत्ता में वीरेंन्द्र सिंह बेदी के घर में हुआ था। मन्दिरा बेदी की पढ़ाई मुम्बई से कैमर्डल स्कूल की और पाॅलिटेनिक काॅलेज से पी डिप्लोमा किया। 

26 दिसम्बर 1984 में चन्द्र की दषा लगने के बाद इन्होने 14 फरवरी 1999 में राज कौषल से षादी की मन्दिरा बेदी ने अपने कैरियर की षुरूआत राहु की दषा में एक छोटे पर्दे के प्रसिद्ध षो (षान्ति) से  1994 में षुरूआत की इस षो के बेहतरीन अभिनय से फिल्म  निर्देषक बहुत प्रभावित हुए और उन्हें फिल्म के आॅफर आने लगे उन्हें षान्ति टी. वी. षों के बाद सबसे बड़ी हिट फिल्म दिल वाले दुल्हनियां लें जायेंगे। में काम किया यह फिल्म 1995 में आयी राहु की दषा ने मन्दिरा बेदी को काफी ऊचाईयां दी। 

मन्दिरा बेदी की कुण्डली में सूर्य का ज्यादा अच्छा प्रभाव न होने के कारण पिता सुख 29 अप्रैल 2004 में खत्म हो गया। 

7 दिसम्बर 2004 में जैसे ही गुरू की दषा न अपना आगमन किया इन्होने बहुत तरक्की हासिल की और 2003 से 2007 तक आई. सी. सी. क्रिकेट वर्ड कप में चारू षर्मा के साथ नजर आ चुकी है।

2009 से 2012 में जब बुध की अन्तरदषा का आगमन हुआ तब 19 जून 2011 में इनके बेटा हुआ और 2013 में बेटी हुई। 

2013 से 2016 तक षुक्र की अन्तरदषा के दौरान मन्दिरा फैषन डिजाइनिंग की और इसी दषा में एकता कपूर निर्मित एक काॅमेडी षो में जज की भुमिका निभाई और कई रियालिटी षो में ऐंकर की भुमिका निभाई।

Know More
Madhur Bhandarkar

मषहूर मधुर भंडारकर का जन्म सूर्य की महादषा में 26 अगस्त 1968 में मुम्बई महाराश्ट्र के एक मध्यम परिवार में हुआ वह दषा इनके जीवन के 6 साल तक 1963 से 1969 तक प्रभावित करती रही। जिसमें इनका बचपन काफी ज्यादा संघर्शमय बिता चन्द्र, केतु, इनके 12 वें भाव में बैठकर पढ़ाई-लिखाई का सुख और रूप्ये-पैसे के हालात और मानसिक परेषानी देने का काम किया लेकिन जब चन्द्र की दषा का आगमन 1969 में हुआ तो यह नकारात्मक फल और ज्यादा और ज्यादा परेषानियां देने लगे जिसमें इनके स्वास्थ्य से संबंधित  परेषानियां भी षामिल थी।

ज बवह 12 वर्श के थे तब दुकान पर काम किया करते थे और फिल्मी सितारों तक कई क्षेत्रों में लोंगो को कैसेट देते थे। सूर्य और चन्द्रमा पीड़ित होने के वजह से 1986 तक इन्होने जीवन यापन के लिए अत्याधिक संघर्श किए। जब इन पर राहु की दषा का आगमन 1986 में हुआ। यह समय इनके उठने का समय था और अपनी योगता को परिणाम देने का काम किया जिस कारण 1995 में इन्होंने  फिल्मी दुनिया में कदम रखा और अपने फिल्मी कैरियर की षुरूआत की इसी दषा में 15 दिसम्बर 2003 में इन्होंने अपनी प्रेमिका रेनु नंबूदिरी से विवाह किया, लेकिन इस षादी के सम्पन्न होने के कुछ समय बाद 2004 में जैसे ही गुरू की दषा का आगमन हुआ तब यह कई तरह के विवादों उलझनों और बदनामी का काम किया। सितम्बर 2005 को विवादो में फसने के कारण जेल यात्रा करनी पड़ी।

2006 में इनको आरोप झुठे सिद्ध होने के कारण के रद्ध कर दिया गया। आगे आने वाले समय में यदि यह अपने ऐषों  आराम और सम्पूर्ण रूप से अध्यामिकता को और प्रवेष करते हैं तो आगे चलकर यह समय इनके लिए बहुत लाभकारी सिद्ध हो सकता है, लेकिन स्वास्थ्य संबंधित परेषानिया और मानसिक तनाव इन पर बना रहेगा।

Know More

 
Free Future Prediction
 
Free Prediction Yes I Can Change


Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Copyright © 2005 - 2017. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े