बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671


Recent added

Jagat Prakash Nadda

जगत प्रकाश नड्डा जी का जन्म 2 दिसंबर 1960 को डॉ नारायण लाल नड्डा और श्रीमती कृष्णा नड्डा के घर हुआ था। उनकी शिक्षा सेंट जेवियर्स स्कूल, पटना में हुई थी।

Know More
Om Birla

ओम बिरला का जन्म 23 नवंबर 1962 को श्रीकृष्ण बिड़ला और स्वर्गीय शकुंतला देवी के घर कोटा में हुआ था।

Know More
Neha Kakkar

नेहा कक्कड़ का जन्म 6 june 1988 मै ऋषिकेश उत्तरांचल के एक गरीब परिवार मै राहू की महादशा मै हुआ था नेहा कक्कड़ की जन्म कुंडली मै राहू 7th भाव मै बेठे है जो स्थान दैनिक आय का और जीवन साथी का होता है ये एक गायिका है ।

इनकी जन्म कुंडली के अंतर्गत इनकी पढ़ाई लिखाई कुछ ज्यादा अच्छे होने के योग नहीं रहे क्यूं की इनकी जन्म मै चन्द्र 7th भाव मै राहू के साथ बैठ कर ग्रहण योग बनाता है जहा से पढ़ाई लिखाई का कुछ खास अच्छा फल नहीं देता । इनकी जन्म कुंडली के अंतर्गत इनके बचपन से ही संघर्ष मै रहने के योग बने ।

17 apr 2003 – 16 apr 2019 – इस समय के अंतराल इनकी जन्म कुंडली मै गुरु की महादशा रही जो इनके 9th भाव मै बैठे है जो स्थान का कारक होता नेहा को इस समय ने काफी उभारा इनकी कुंडली के अंतर्गत इनहोने गायन नर्त्य को अपना व्यबसाई चुना ।

2006 मै इनहोने कैरियर की शुरुआत की लेकिन वहा से इनको निराशा के योग बने लेकिन गुरु की महादशा ने इनको काफी ���च्छा सहयोग किया इनकी जन्म कुंडली के अनुसार इनहोने 2008 मै इनके अपने कैरियर की शुरुआत की और इन्हे वहा से आगे बढ्ने के अच्छे संकेत बने इनके जन्म कुंडली के आधार पर इनके अपने जन्म स्थान से बाहर रहकर ही काम काज मै तरक्की के योग रहे जैसे ही जन्म कुंडली मै गुरु की महादशा लगी वैसे ही इनको केतू ने सहयोग देना शुरू कर दिया केयू इनकी जन्म कुंडली मै लग्न के स्थान मै बैठकर काम काज मै प्रसिद्धि हंसिल कराई । यह  महादशा इनके जीवन मै 16 साल तक रही और 2019 तक चली इस महादशा के अंतर्गत नेहा कक्कड़ के खूब तरक्की के योग बने ।

17 apr 2019 -16 apr 2038 – वर्तमान मै चल रही महादशा शनि की है जो की काम काज के स्थान मै बेठे है यहा से काम को लेकर इतनी परेशानी नहीं करता लेकिन आगे चलकर इनको इनकी शादी शुदा जीवन मै और संतान से लेकर परेशानिओ का सामना करना पड़ेगा ।

Know More
Sachin Tendulkar

महान खिलाड़ी सचिन रमेश तेंदुलकर का जन्म  24 अप्रैल 1973 मे शुक्र की महादशा मे एक मराठी परिवार मे हुआ l सचिन तेंदुलकर जी के पिता एक मराठी प्रोफेसर थे l उच्च राशि में बैठे  मंगल के योग ने उनको बचपन से ही खेलकुद की तरफ प्रेरित किया साथ ही इसी मंगल के सहयोग से खेलकुद मे आगे बढ़े l जैसे ही सचिन तेंदुलकर जी के जीवन मे सूर्य का समय आया जो की उनको 1975 –1981 तक प्रभावित करता रहा इस समय उनकी जन्म  कुंडली के भाग्य स्थान मे बैठे  सूर्य और शुक्र की युति ने मेहनत से खेल मे सफलता प्रदान की l इसी महादशा मे इनको देश विदेश मे जाने का मौका मिला साथ ही इज्जत और कामकाज के नए-नए कीर्तिमान बने l सूर्य मे चले केतू ने इनको नाम की प्रसिद्धि दी l सचिन तेंदुलकर जी की जन्म कुंडली मे बने सूर्य शुक्र के कारण कुदरती मदद मिलती रही साथ ही इनके गुरु की इनपर कृपा रही जिसकी वजय से ये खेल की बारीकी को समझ पाए l

1981 -1991 मे जैसे ही चंद्रमा का समय शुरू हुआ जिसमे उन्होने विपक्षी टीम ऑस्ट्रेलिया को हारा दिया l पंचम भाव मे बैठे चन्द्र व राहू ने उनको पढ़ाई के सुख तो नहीं दिये लेकिन दौलत और शोहरत मे कोई कमी नहीं की साथ ही वहानों का सुख भी इसी योग ने प्रदान किया l सचिन रमेश  तेंदुलकर जी को इसी समय मे नये वाहन और प्रसिद्धि का सुख प्राप्त हुआ साथ ही अपने काम की शुरुआत की l सचिन रमेश तेंदुलकर जी की जन्म कुंडली मे बैठे पंचम भाव के राहू के योग के कारण पिता को शारीरिक कष्ट प्रदान किए l

सचिन रमेश तेंदुलकर जी की जन्म कुंडली मे काल “सर्प-दोष” होने के बावजूद भी वे महान छवि के मालिक हुए l छठे घर मे मंगल उच्च की राशि और साथ मे गुरु ने उनको अव्वल दर्जे की मेहनत देकर एक महान खिलाड़ी की उपाधि प्रदान की l सचिन रमेश तेंदुलकर जी की जन्म कुंडली मे मंगल का समय उनको 1997 -1998 तक प्रभावित करता रहा जिसके दौरान उनको  अपनी टीम की कप्तानी का दर्जा प्राप्त हुआ लेकिन नीच राशि के गुरु के कारण उनको एक अच्छी कप्तानी मे सफलता प्राप्त नहीं हुई l लेकिन छठे भाव के उच्च राशि मे बैठे मंगल ने इनको उनकी मेहनत मे प्रसिद्धि देने मे कोई कमी नहीं छोड़ि l इसी मंगल के समय ने इनको शादीशुदा जीवन का सुख प्रदान किया और संतान का सुख भी प्रदान किया l

जैसे ही सचिन रमेश तेंदुलकर जी की जन्म कुंडली मे राहू का समय शुरू हुआ 1992 – 2016 जो इनको काफी लंबे समय तक प्रभावित करता रहा l पंचम भाव मे बैठे राहू ने इनके पिता के सुख को खत्म कर दिया साथ ही उनको शारीरिक व मानसिक कष्ट भी प्रदान किए लेकिन  भाग्या स्थान मे बैठे सूर्य ने मान-सम्मान मे कभी कोई कमी नहीं दी l इसी राहू के समय के चलते सचिन जी ने खेल जगत से सन्यास लेने का भी निर्णय लिया जो जी बहुत बड़ा फैसला  था l अभी के समय में सचिन रमेश तेंदुलकर जी की जन्म कुंडली मे गुरु का समय 2016 -2032 चल रहा है जोकि इनको सोलह साल तक प्रभावित करेगा l यह समय इनके काम काज और व्यापार को बढ़ाने के लिए बहुत अच्छा समय  है l दशम भाव मे बैठे शनि, सूर्य और  शक्र के मेल से इनको राजनीति की तरफ अचकी सफलता के योग बनते है l सचिन रमेश  तेंदुलकर जी की जन्म कुंडली मे गुरु मे शनि का समय जुलाई 2018 से शुरू हुआ है जोकि इनको राजनीति और एक गुरु के रूप मे एक उज्जवल समय प्रदान करने का योग बनाता है l केवल इनको अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है l आने वाले समय मे उनको पेट और नसो से संबन्धित परेशनी के योग बनते हैl

Know More
Shilpa Shetty

शिल्पा शेट्टी जी का जन्म  सूर्य की महादशा मे 1975 मे कर्नाटक के मैंगलूर जिले मे एक सामान्य परिवार मे हुआ l शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे गुरु उच्च  भाव मे बैठे  होने के कारण उनको शिक्षा का पूर्ण रूप से सुख प्रदान किया l शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे चंद्रमा के भाव मे बैठे  मंगल ने उनकी जन्म कुंडली मे मांगलिक योग तो बनाया साथ ही खेलकुद के प्रति इख्छा भी प्रदान की l शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे सप्तम भाव मे विराजमान शनि और सप्तम भाव के मालिक शुक्र ने उनको बचपन से ही कला के क्षेत्र मे विशेष रुचि प्रदान की l शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे गुरु मंगल की युक्ति से बने राजयोग के कारण उनको अपने शुरुआती दौर से ही उनको सफलता प्राप्त की l लेकिन शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे चन्द्र केतू के योग का पंचम भाव मे होने के कारण बार-बार मान-सम्मान को भी खराब करने के योग बनाता है l शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे जैसे ही मंगल की महादशा 1985 से चली तो इन�े कामकाज और प्रसिद्धि के भी योग बनाए l 

1992 से जब राहू की महादशा का समय शिल्पा जी के जीवन मे अनावश्यक खर्चे और साथ ही बदनामी के भी योग बने लेकिन इसी राहू की महादशा ने उनको प्रसिद्धि के भी सुख प्रदान किए l अभी के समय मे शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे गुरु की महादशा का समय चल रहा है जोकि उनको 2026 तक प्रभावित करेगा l मीन राशि मे बने मंगल गुरु के योग उनको इस समय मे काफी प्रसिद्धि वह सुखी जीवन के योग बनाते है l 2018 – 2021 तक शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे गुरु मे महादशा मे शुक्र का समय चल रहा है  l यह समय कला के क्षेत्र मे तो ठीक है लकीन जीवनसाथी और स्वास्थ्य से संबन्धित परेशानी दे सकता है l इसी लिए सही समय  पर किया हुआ उपाय आने वाले परेशानी को काफी हद तक कम कर सकता है l शिल्पा जी की जन्म कुंडली मे आने वाला वर्षफल मिला जुला फल देने वाला है l

शुभ रत्न – नीलम

Know More
Paresh Rawal

अभिनेता परेश रावल का जन्म 30 मई 1950 को अहमदाबाद में हुआ। आपकी कुंडली में चंद्र जिस स्थान पर बैठा है वह उन्हें अपने परिश्रम द्वारा धन अर्जित कराने की प्रेरणा देता है। उच्च स्तर का स्थान प्राप्त कराने में योगदान देता है। विपक्ष पर पूर्ण विजय प्राप्ति कराता है। साथ ही सफलता भी प्रदान कराता है। 

आपके जन्म के समय चंद्र जिस राशि पर परिभ्रमण कर रहा था वह धनवान बनाता है एवं हास्य जीवन में कम देता है परंतु दूसरों को पूर्ण हंसाता है ऐसा जातक। 

कुंडली में मंगल की स्थिति आपको ‍वाद‍-विवाद में प्रबल बनाती है। चतुर बुद्धि प्रदान करती है। मंगल, बुध की राशि पर विराजमान है। जो कृतज्ञ बनाता है। अपने कार्य को पूर्ण निष्ठा से व्यक्ति करता है। इसका प्रभाव हम परेश रावल में देख रहे हैं। कुंडली में बुध की स्थिति के कारण आपको हर प्रकार से सुख प्राप्त है। धर्म के प्रति आस्था बुध बढ़ाता है। परंतु बुध का मेष राशि पर ‍विराजमान रहना परेशानी में डाल सकता है।

परेश के लिए यह वर्ष मिश्रित फल वाला रहेगा। जून माह मध्यम रहेगा। जुलाई से अगस्त का समय अच्छा व्यतित होगा। सितंबर में बड़े ऑफर आएंगे। अक्टूबर-नवंबर सामान्य रहेगा। दिसंबर में अच्छे सम्मान के योग बनते हैं। स्वास्थ्य से संबंधित तकलीफ इस वर्ष हो सकती है अत: ध्यान दें। 2012 के प्रथम तीन माह सामान्य रहेंगे। 

Know More

 
Free Future Prediction
 
Free Prediction Yes I Can Change


Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Copyright © 2005 - 2017. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े