बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671


Arbaaz Khan
NAME:

Arbaaz Khan

DATE OF BIRTH:04 August 1967
TIME OF BIRTH:12:00 PM
PLACE OF BIRTH:Mumbai, Maharashtra
Arbaaz Khan kundali


अरवाज खान का जन्म सन् 4 अगस्त 1967 में गुरु की महा दशा के अंतर्गत हुआ था। जोकि इनके जीवन  में 1974 तक रही। इस दशा ने इनको संस्कार प्रदान करने का काम किया साथ ही साथ अपने घर के रीती रिवाज सीखने का काम किया तथा गुरु और सूर्य का दसवे घर में बैठे युति ने इनको जीवन में पिता का सहयोग प्राप्त करते हुए कार्य क्षेत्र से जुड़ने का काम किया। 

 

इनकी जन्मकुंडली के अनुसार मंगल केतु का मेल लग्न में होने के कारण ऐसा व्यक्ति में गुस्सा, अहंकार व साफ़-स्पष्ट बोलने के कारण मुँह का कड़वा बनाने का काम करता है साथ ही साथ इस योग में 27, 28, व 29 उम्र के दौरान बड़े भाई को मृत्यु तुल्य कष्टों का सामना भी प्रदान करता है तथा अगर ऐसा व्यक्ति पूजा पाठ में ज्यादा लीन हो व साधु संतों को घर बैठाकर खाना खिलाने वाला हो तो व्यक्ति के कार्य क्षेत्र में अनेक प्रकार के उतार चढ़ाव की स्थिति रहती है। यह योग पुत्र संतान की उत्पत्ति में बाधाएं उत्पन्न करता है तथा किसी न किसी प्रकार पुत्र सुखों में कमी के हालात भी उत्पन्न करता है व किसी न किसी रूप में जीवनसाथी को मानसिक व शारारिक समस्यां से घेरे रखता है तथा आज की दशा के अनुसार जोकि केतु की होने के कारण सन् 2010 से 2017 जुलाई तक पुत्र के सुखों में खराबी के हालात पैदा करता है तथा मानसिक परेशानियों का दौर जीवन में लगाए रखता है।  नाभि से नीचे व खून की समस्यां से घेरे रखता है।  

 

इसी के चलते जुलाई 2017 के बाद इनका जीवन सुख में व्यतीत होगा जीवनसाथी के सुखों की खराबी भी उत्पन्न कराएगा या फिर जीवन साथी को मानसिक व शारारिक कष्टों का सामना करवाएगी।  

 




Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Copyright © 2005 - 2017. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े