बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671


Aishwarya Rai Bachchan
NAME:

Aishwarya Rai Bachchan

DATE OF BIRTH:01 November 1973
TIME OF BIRTH:07:20 AM
PLACE OF BIRTH:mangalore, Karnataka
Aishwarya Rai Bachchan kundali


ऐश्वर्या राय का जन्म शुक्र की महादशा में हुआ जो कि इनके जन्म के बाद 11 साल तक चली। इनका जन्म शुक्र कि महादशा में होने के कारण हम कह सकते हैं के यह बचपन से ही चंचल स्वभाव वाली रही होंगी और यही कारण है के इनका छोटी उम्र में मॉडलिंग की तरफ झुकाव बनने लगा।  इनकी कुंडली में मंगल 8वे भाव में बैठे हैं जिस कारण इनका स्वभाव थोड़ा चिड़-चिड़ा भी होगा और शनि 10वे घर में होने के कारण यह दिमाग से काम लेने वाली और शरारती प्रवृती की बनती हैं।  इनकी कुंडली में ये भी योग है कि पढ़ाई के साथ साथ काम करना और जिस कारण इनको स्कूल की उम्र में ही मॉडलिंग  के ऑफर भी आने लगे थे।  

 

1984-1990 में इनकी कुंडली में सूर्य की महादशा से प्रभावित थी और सूर्य इनकी कुंडली में दूसरे भाव में बैठे हैं और पांचवे घर में गुरु के बैठे होने के कारण इनके घर से बाहर जाने के भी योग बनते थे जिसके कारण इनके पूरे परिवार को ही जन्म स्थान छोडकर मुंबई आना पड़ा और वही से इनकी मॉडलिंग की भी शुरुआत हुई।  क्योकि पांचवे घर में बैठे हुये गुरु पढ़ाई के चलते चलते काम भी लगवा देते हैं और यही कारण है के इन्हें 9वी कक्षा से मॉडलिंग के ऑफर भी आने लगे। यह समय इनके काम-काज के लिए तो रहा होगा लेकिन इनकी पढ़ाई और इनकी माता जी को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें आई होंगी। 

 

इनकी कुंडली में चौथे भाव में चन्द्र का अर्ध ग्रहण बन रहा है जोकि इनके और इनके परिवार के लिए समय समय पर दिक्कतें खड़ी करता होगा और वो दिक्कतें खासकर इनकी माता जी की सेहत और इनके घर कि सुख-शांति को लेकर हो सकती है और वो भी तब जब भी यह घर के अंदर रसोई या वाशरूम के अंदर जब भी मरम्मत करवायेंगे तब इनको यह मुसीबतें खड़ी हो सकती हैं। 

 

1990-2000 में इनकी कुंडली में चंद्र कि महादशा चली और चंद्र देव इनकी कुंडली में चौथे भाव में राहू और शुक्र के साथ बैठे हैं यह समय इनके लिए काफी हद तक सही रहा होगा लेकिन जब चन्द्र के अंदर राहू का समय आया होगा तो वो हो सकता है के इनके लिए परेशानियाँ लेकर आया हो लेकिन जब भी चन्द्र के अंदर शुक्र का समय आया होगा तो वो समय इनके लिए जरूर अच्छा रहा होगा और इसी समय के अंदर इन्होंने ( miss world ) खिताब भी हासिल किया और यहीं से इनके फिल्मी कैरियर की शुरुआत हुयी और 1997  में इनकी पहली फिल्म भी रिलीज़ हुई और इसके साथ ही उनके स्ट्रगल करने का समय भी शुरू हुआ और इस दशा के अंतिम समय में इन्हें कामयाबी मिली।    

 

यह समय इनके लिए नाम के साथ थोड़ी थोड़ी मुसीबतें भी लाया होगा जोकि खासकर इनके परिवार से संबन्धित हो सकती हैं और इनकी निजी ज़िंदगी से भी जिसके कारण इन्हें मानसिक तनाव से गुजरना पड़ा होगा और पैसे कि दिक्कत का भी सामना करना पड़ा होगा। 

 

2000-2007 में इनकी कुंडली में मंगल की दशा चली और मंगल इनकी कुंडली में 8वे भाव में बैठे हैं अष्टम भाव के मंगल को ज़्यादा अच्छा नहीं माना गया है लेकिन इनकी कुंडली में चंद्र देव चौथे भाव में होने के कारण मंगल बहुत बुरा फल इन्हें दे पाएंगे लेकिन इस समय के अंदर इन्हें थोड़ी बहुत दिक्कतें जैसे स्वभाव में गुस्सा घर में मांगलिक कार्यो में दिक्कतें देखने को मिली होंगी लेकिन यह दिक्कतें इन्हें हमेशा नहीं रही होंगी क्योकि यही समय इनके कामयाब होने का भी था असतं भाव को अचानक लाभ या हानी वाला घर माना गया है। जिस कारण इन्हें इस समय के अंदर शौहरत भी मिली और यह एक अच्छी अभिनेत्री के रूप में दुनिया के सामने आयी और इसी दशा के अंदर इनकी शादी भी हुयी।

 

2007-2025 में इनकी कुंडली में राहू की महादशा चलेगी इस महादशा के अंदर जब भी यह घर में मरमत करवायेंगी या कुछ नया बनवायेगी तब इनको जरूर कुछ मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है और हो सकता है। इस समय में इन्हें मानसिक तनाव का भी सामना करना पड़ेगा और घर की समृद्धि को लेकर भी बुरे हालात पैदा हो सकते हैं। बुरे समय में धन की चिंता और गम के हालात पैदा होंगे। इनका गृहस्थ जीवन सुखी होता है। इनकी माता जी को समय-समय पर शारीरिक कष्ट या समृद्धि से जुड़ें कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। 

 

यह जितना अपने परिवार के साथ बनाकर रखेंगी उनके साथ मिलकर चलेंगी इनको जिंदगी में उतने ही सुख प्राप्त होंगे। कर्म-धर्म के कार्य इनके भाग्य को बढ़ाने वाले होंगे पर यह अपनी मर्जी से ही चलने वाले इंसान होंगे।

 




Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Copyright © 2005 - 2017. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े