बस अब दु:ख और नहीं
Call Us: +91-124-6674671

शुक्र ग्रह का मानव जीवन पर प्रभाव

शुक्र ग्रह का मानव जीवन पर प्रभाव

हर प्रकार के भौतिक सुखों को समेटा हुआ यह शुक्र ग्रह मानव जीव पर बहुत बड़ा प्रभावशील ग्रह माना जाता है | ज्योतिष विज्ञान के अनुसार शुक्र ग्रह की अनुकूलता से व्यक्ति भौतिक सुख पाता है। इसके अलावा शुक्र यौन अंगों और वीर्य का कारक भी माना जाता है। विवाह तय करने के पहले कुंडली मिलान के समय ही इन योगों पर अवश्य ही दॄष्टिपात कर लेना चाहिए।

यदि शुक्र के साथ लग्नेश, चतुर्थेश, नवमेश, दशमेश अथवा पंचमेश की युति हो तो दांपत्य सुख यानि यौन सुख में वॄद्धि होती है।शुक्र मनोरंजन का कारक ग्रह है | शुक्र स्त्री, यौन सुख, वीर्य और हर प्रकार के सुख और सुन्दरता का कारक ग्रह है | यदि शुक्र की स्थिति अशुभ हो तो जातक के जीवन से मनोरंजन को समाप्त कर देता है | नपुंसकता या सेक्स के प्रति अरुचि का कारण अधिकतर शुक्र ही होता है | मंगल की दृष्टि या प्रभाव निर्बल शुक्र पर हो तो जातक को ब्लड शुगर  जैसी बीमारी हो जाती है | इसके अतिरिक्त शुक्र के अशुभ होने से व्यक्ति के शरीर को आलसी बना देता है | बहुत अधिक पतला शरीर या छोटे कद शुक्र की अशुभ स्थिति के कारण होता है | 

यदि ऐसी स्थिति किसी भी जातक की कुण्डली में दिखाई देती है तो वह मंगली दोष के उपायों के द्वारा शुभ फल प्राप्त कर सकता है | यदि आपकी कुंडली में मंगली दोष है तो आप मंगली दोष के उपायों को अपनी (Yes I Can Change )  जन्मकुण्डली  के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं|

किसी समस्या या जानकारी के लिए आप निचे दिए गए लिंक पे क्लिक कर जानकारी ले सकते हैं Click Here

Date Published : 12 Jan 2018
View all blogs

like & follow

Contact Info
Follow Us
           
     

We accept all these major cards

Yes I Can Change
Copyright © 2005 - 2018. G D Vashist & Associates Pvt. Ltd. All Rights Reserved.
हिंदी में पढ़े Yes I Can Change